Breaking News
Home / देश / मध्य प्रदेश / जबलपुर / बहनों की मर्यादा के सम्मान के लिए शौचालय बनवाएं:कलेक्टर।

बहनों की मर्यादा के सम्मान के लिए शौचालय बनवाएं:कलेक्टर।

जिले के ग्रामीण अंचलों में राखी पर भाईयों ने दिया अभिनव उपहार।

जबलपुर : अपनी बहनों को खुले में शौच जाने की विवशता से मुक्ति दिला उनकी मर्यादा का सम्मान सुनिश्चित करने के लिए जिले के ग्रामीण अंचलों में राखी के त्यौहार पर भाईयों ने बहनों को नायाब तोहफा दिया। घरों में शौचालय निर्माण की इस अद्भुत पहल के साक्षी बनने कलेक्टर महेशचन्द्र चौधरी और सीईओ जिला पंचायत हर्षिका सिंह स्वयं जिले की जबलपुर जनपद पंचायत के ग्राम हिनौतिया-बारहा पहुंचे। 


इस ग्राम में अपनी बड़ी बहन के लिए तीन किशोरों ने स्वयं शौचालय का निर्माण कर एक मिसाल कायम की ताकि उनकी बहन को खुले में शौच जैसी विवशता से मुक्ति मिल सके। रोशन, गोविन्द और आशीष ने एम.टैक में अध्ययनरत अपनी बड़ी बहन द्वारा आज रक्षाबंधन के पुनीत पर्व पर राखी बांधे जाने पर उसे यह उपहार दिया। इस मौके पर मौजूद कलेक्टर श्री चौधरी को भी छात्रा ने राखी बांधी। उल्लेखनीय है कि तीनों भाई डिप्लोमा तथा बी.ई. में अध्ययनरत हैं। कलेक्टर स्वयं पूरे अमले के साथ शौचालय देखने पहुंचे और बड़ी बहन के प्रति उसके भाईयों की भावनाओं को दिल खोलकर सराहा। 
इस मौके पर ग्राम के मंदिर में आयोजित कार्यक्रम में सुनील श्रीपाल ने विनीता झारिया द्वारा राखी बांधे जाने पर स्वेच्छा से उन्हें शौचालय निर्माण के लिए 12 हजार रूपए का चैक भेंट किया। इस दौरान जनपद सदस्य रश्मि श्रीपाल भी मौजूद थीं। भावनाओं से लबरेज कार्यक्रम में कारीगरों के साथ अपनी छोटी बहन कुमकुम के लिए शौचालय निर्माण में पूरे उत्साह से योगदान देने के लिए बारहा पंचायत के 12 वर्षीय साहिल रजक को कलेक्टर ने रेडक्रास के माध्यम से 5 हजार रूपए की मदद की घोषणा की। श्री चौधरी ने निर्माणाधीन शौचालयों का मुआयना भी किया।  


इस अवसर पर कलेक्टर श्री चौधरी ने कहा कि स्वच्छ भारत मिशन के अन्तर्गत ग्रामीण क्षेत्रों को खुले में शौच से मुक्ति दिलाने की दिशा में ठोस कदम उठाए जा रहे हैं। इसी परिप्रेक्ष्य में ग्रामीणों तक रक्षाबंधन जैसे पावन-पर्व के माध्यम से स्वच्छता का संदेश पहुंचाया जा रहा है। कलेक्टर ने कहा कि बहनों की मर्यादा के सम्मान की दृष्टि से भाईयों को राखी बंधवाते समय यह संकल्प लेना चाहिए कि अगली बार जब बहन उन्हें राखी बांधने अपने मायके आए तो उसे लोटा लेकर बाहर न जाना पड़े। उन्होंने इस बात पर भी जोर दिया कि जिन लोगों के घरों में शौचालय हैं वे इसका उपयोग सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि गांव के हर घर में जरूरी तौर पर शौचालय का निर्माण कराया जाए। ग्राम के 30-35 परिवारों द्वारा शौचालय निर्माण में अपेक्षित रूचि नहीं ली जाने की जानकारी दी जाने पर कलेक्टर ने निर्देश दिए कि ऐसे परिवारों को शौचालय निर्माण के लिए प्रेरित एवं प्रोत्साहित किया जाए और इसके बावजूद उनके रवैए में बदलाव न आने पर उन्हें राशन सामग्री का वितरण न किए जाने की दिशा में कदम उठाए जाएं। कलेक्टर ने कार्यक्रम में एकत्र जनसमुदाय को खुले में शौच से मुक्ति प्राप्त करने प्रत्येक घर में शौचालय निर्माण का संकल्प भी दिलाया। इस दौरान सरपंच रंजीत सिंह भी मौजूद थे। 
इसके साथ ही जिले के अन्य ग्रामीण अंचलों में भी भाईयों ने अपनी बहनों को अस्वच्छ स्थितियों से निजात दिलाने घरों में शौचालयों के निर्माण की पहल की। निश्चय ही रक्षाबंधन के पर्व पर बहनों के लिए इससे बेहतर उपहार दूसरा नहीं हो सकता। 

कार्यक्रम में एसडीएम नम:शिवाय अरजरिया, सीईओ जनपद पंचायत मनोज सिंह तथा तहसीलदार पंकज मिश्रा एवं अन्य अधिकारी मौजूद थे।

[[email protected] Dubey]

About WFWJ

Check Also

जबलपुर: सूदखोरों से परेशान युवक ने खाया जहर।

देखिए वीडियो रिपोर्ट@सुनील सेन,जबलपुर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *