Breaking News
Home / देश / मध्य प्रदेश / जबलपुर / जानकी को मुख्यमंत्री ने दी बधाई

जानकी को मुख्यमंत्री ने दी बधाई

उज्बेकिस्तान के ताशकंद शहर में इंटर नेशनल ब्लाइंड स्पोर्टस फेडरेशन द्वारा हाल ही में आयोजित की गई आई.बी.एस.ए. जूडो एशियन-ओशियाना चैम्पियनशिप में अपने शानदार प्रदर्शन से भारतीय दल को काँस्य पदक जिताने वाली जिले के सिहोरा तहसील के कुर्रे ग्राम की नेत्रहीन जानकी बाई गोंड को प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने बधाई दी है ।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर दिये गये बधाई संदेश में जानकी की इस उपलब्धि को प्रदेश का गौरव बढ़ाने वाला बताया ।  श्री चौहान ने कहा कि दिव्यांग बेटी जानकी अन्य बेटियों के लिए प्रेरणा स्त्रोत बनेगी ।  मुख्यमंत्री को जानकी की इस उपलब्धि की जानकारी कलेक्टर महेश चंद चौधरी ने आज भोपाल में सम्पन्न हुई बैठक में दी ।  मुख्यमंत्री ने इस पर अपनी खुशी का इजहार किया और ट्वीट कर दी गई बधाई में जानकी के हौसले की तारीफ करते हुए कहा कि इस दिव्यांग बेटी ने “मन के हारे हार है, मन के जीते जीत” की कहावत को सच कर दिखाया है ।

                इधर जानकी का नई दिल्ली होते हुए आज सुबह गोंडवाना एक्सप्रेस द्वारा जबलपुर पहुंचने पर जोरदार स्वागत किया गया ।  जानकी 29 मई की रात को ताशकंद से नई दिल्ली के लिए रवाना हुई थीं । जबलपुर पहुंचने पर जानकी की अगवानी जिला प्रशासन की ओर से अनुविभागीय दण्डाधिकारी सिहोरा मुनीष सिकरवार ने की ।  इस मौके पर अन्य संगठनों ने भी जानकी का स्वागत किया । जानकी जबलपुर में कुछ देर रूकने के बाद अपने कोच भगवानदास तथा तरूण संस्कार संस्था के पदाधिकारियों के साथ सिहोरा रवाना हुई ।  सिहोरा के रास्ते में भी जगह-जगह विभिन्न संगठनों द्वारा जानकी का स्वागत किया गया । बचपन से ही नेत्रहीन जानकी की इस प्रतिभा को निखारने और जूडो का प्रशिक्षण दिलाने में तरूण संस्कार संस्था का महत्वपूर्ण योगदान रहा है ।

                जानकी ने इसके पहले राष्ट्रीय स्तर पर नेत्रहीन तथा मूक-बधिर प्रतियोगिताओं में भी पुरस्कार हासिल किये थे ।  ताशकंद में आयोजित एशियन-ओशियाना जूडो चैम्पियनशिप के लिए भारतीय दल में चयन होना उसके लिए बेतहाशा खुशी का अवसर था लेकिन दूसरी तरफ अर्थाभाव ने उसके मन में निराशा भर दी थी । जानकी और उसके परिवार के पास इतने पैसे नहीं थे कि वो ताशकंद जाने के बारे में सोच भी सकें । लेकिन जानकी की प्रतिभा और कलेक्टर महेश चन्द्र चौधरी के प्रयासों से यह संभव हो पाया ।  कलेक्टर की पहल पर न केवल अधिकारियों-कर्मचारियों ने जानकी को ताशकंद भेजने के लिए आपसी सहयोग से धन राशि एकत्रित की बल्कि रेडक्रास सोसायटी से भी इसके लिए राशि जुटाई गई ।

शैलेष दुबे डायरेक्टर

About WFWJ

Check Also

स्वास्थ्य व शिक्षा समाज की रीढ़ की हड्डी है- कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा

स्टार भास्कर डेस्क/जबलपुर@ कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने आज शहीद स्मारक में आयोजित अनाज एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *