Breaking News
Home / देश / RSS दफ्तर के बाहर बम धमाका दो बाइक सवारों ने बम से हमला किया!

RSS दफ्तर के बाहर बम धमाका दो बाइक सवारों ने बम से हमला किया!

नई दिल्ही ‘केरल’ आरएसएस ”संघ” के
दफ्तर के बाहर बम धमाका दो बाइक सवारों ने
बम से हमला किया
संघ के दफ्तर के बाहर बम धमाके के बाद
सीपीएम ऑफिस में लगी आग केरल के
कोझीकोड शहर में बीती रात राष्ट्रीय
स्वयंसेवक संघ के दफ्तर के बाहर एक बम
धमाके के बाद अब सत्ताधारी पार्टी सीपीएम
के ऑफिस को आग लगाने की खबर आ रही
खबर के मुताबिक सीपीएम के कोझीकोड शहर
के ऑफिस में कुछ अज्ञात लोगों ने आग लगा
दिया
बीच केरल के पलक्कड़ जिले से दो DYFI
कार्यकर्ताओं की हत्या की खबर आ रही
पुलिस ने इस मामले में 3 भाजपा कार्यकर्ताओं
के नाम शिकायत दर्ज की बीती रात
आरएसएस दफ्तर के बाहर दो बाइक सवारों ने
बम से हमला किया। इस धमाके में 4
कार्यकर्ता घायल हुए खबरों के अनुसार
धमाका नाडापुरम के आरएसएस दफ्तर के पास
हुआ। पुलिस ने इलाके की घेराबंदी कर ली है
और सुरक्षा को कड़ा कर दिया गया साथ ही
पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर मामले की जांच शुरू
कर दी हमले के बाद संघ विचारक राकेश
सिन्हा ने केरल के मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते
हुए कहा केरल में सीपीएम कार्यकर्ताओँ के
हिसंक गतिविधियों को केरल मुख्यमंत्री
संरक्षण प्रदान करने के साथ-साथ बढा़वा
देते राकेश सिन्हा ने कहा कि गृह मंत्री को
तुरंत केरल जाकर वहां की स्थिति का जायजा
लेना चाहिए और केरल सरकार को निर्देश जारी
करने चाहिए बताया जा रहा कि यह हमला दो
बाइक सवारों ने किया अचानक वे दफ्तर के
पास आए और देसी बम फेंक कर फरार हो गए
घायल आरएसएस के कार्यकर्ताओं को
राजकीय मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया
राज्य में इससे पहले भी आरएसएस के
कार्यकर्ताओं पर हमला हुआ 31 जनवरी को
सीपीएम के कुछ कार्यकर्ताओं द्वारा
आरएसएस कार्यकर्ताओं पर लाठियों से हमला
करने की खबरें भी सामने आया प्रधानमंत्री
नरेंद्र मोदी ने पिछले साल हुए हमलों की निंदा
की इस घटना के बाद आरएसएस ने केंद्रीय गृह
मंत्रायल से हस्ताक्षेप करने की अपील की
संघ विचारक राकेश सिन्हा ने केरल के
मुख्यमंत्री पर आरोप लगाते हुए कहा केरल में
सीपीएम कार्यकर्ताओँ के हिसंक गतिविधियों
को केरल मुख्यमंत्री संरक्षण मीडिया

About WFWJ

Check Also

आजाद हिंदुस्तान का मन्त्र-करेंगे और करके रहेंगे-पीएम ।

देश की आज़ादी के लिए वर्ष 1942 में छेड़े गए ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ के 75 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *