Breaking News
Home / खेल-जगत / PAK vs NZ: पाकिस्तान की फाइनल में धमाकेदार एंट्री, जानिए जीत की 5 बड़ी वजह

PAK vs NZ: पाकिस्तान की फाइनल में धमाकेदार एंट्री, जानिए जीत की 5 बड़ी वजह

पाकिस्तान ने न्यूजीलैंड को 7 विकेट से पीटकर टी20 वर्ल्ड कप के फाइनल में एंट्री कर ली है. जहां उसका मुकाबला 13 नवंबर को इंग्लैंड और भारत के बीच खेले जाने वाले दूसरे सेमीफाइनल की विजेता से होगा. पाकिस्तान और न्यूजीलैंड के बीच खेले गए पहले सेमीफाइनल मुकाबले की बात करें तो कीवी टीम ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 152 रन बनाए. पाकिस्तान ने 153 रन का लक्ष्य 3 विकेट के नुकसान पर आसानी से हासिल कर लिया. इसी के साथ वर्ल्ड कप के नॉकआउट में न्यूजीलैंड पर अपना दबदबा भी बरकरार रखा है। हालांकि इस टूर्नामेंट में न्यूजीलैंड का प्रदर्शन ज्यादा शानदार था. ग्रुप 1 में टॉप पर रहते हुए वो सेमीफाइनल में पहुंची थी, जबकि पाकिस्तान लड़खड़ाते हुए यहां तक पहुंचा था, मगर इसके बावजूद भी वो फाइनल में जगह बनाने में अगर सफल रहा तो उसके पीछे 5 वजह है।

पाकिस्तान की जीत की सबसे बड़ी वजह न्यूजीलैंड को दमदार शुरुआत लेने का कोई मौका न देना है. टॉस के समय ही बाबर आजम ने कह दिया था कि वो भी पहले बल्लेबाजी करना चाहते थे, मगर ऐसा नहीं हुआ तो अब वो शुरुआती ओवर्स में दबाव बनाएंगे. हुआ भी ऐसा ही. पाकिस्तानी गेंदबाजों ने शुरुआती 10 ओवर में तो कीवी बल्लेबाजों को खेलने का मौका तक ही नहीं दिया. 48 रन पर ही एक समय 3 विकेट झटके दे दिए थे. केन विलियमसन और डैरेल मिचेल ने जब तक पारी को संभाला, काफी देर हो गई थी।


पाकिस्तान की सबसे बड़ी ताकत उसका गेंदबाजी विभाग है. पाकिस्तानी गेंदबाज लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं. चोट से उबरने के बाद शाहीन भी फॉर्म में आ गए हैं. उन्हें तो सलामी बल्लेबाज फिन एलेन और केन विलियमसन भी नहीं समझ पाए. अफरीदी ने दोनों का शिकार किया. खासकर विलियमसन की डैरेल मिचेल के साथ हुई मजबूत साझेदारी को उन्होंने ज्यादा आगे तक बढ़ने नहीं दिया, क्योंकि अगर ये साझेदारी कुछ समय और क्रीज पर टिक जाती तो पाकिस्तान के लिए परेशानी हो सकती थी. मिचेल 53 रन पर नाबाद रहे।


पाकिस्तान की इस बड़ी जीत की दूसरी वजह मोहम्मद रिजवान और बाबर आजम का सही समय पर फॉर्म में आना रहा. इस टूर्नामेंट में दोनों ही अपनी पुरानी लय हासिल करने के लिए जूझ रहे थे. पाकिस्तानी कप्तान बाबर आजम की हालत तो और ज्यादा खराब थी. वो तो पिछले 5 मैचों में 50 रन तक भी नहीं बना पाए थे, मगर सेमीफाइनल में पाकिस्तान के दोनों सलामी बल्लेबाज एक साथ चल गए और दोनों ने 105 रन की बेजोड़ साझेदारी करके मुकाबला एकतरफा कर दिया. दोनों के बल्ले से अर्धशतक निकले।


पाकिस्तान की जीत की एक वजह न्यूजीलैंड की घटिया फील्डिंग भी रही. बाबर ने इस मुकाबले में अर्धशतक जड़कर जबरदस्त शुरुआत दिलाई, मगर उन्हें पहले ही ओवर में चौथी गेंद पर जीवनदार मिला था. वो गोल्डन डक होने से बच गए. ट्रेंट बोल्ट की गेंद पर डेवॉन कॉनवे कैच लपकने से चूक गए, जिसका फायदा बाबर आजम ने बखूबी उठाया।

About WFWJ

Check Also

सात एकड़ में बना है महेंद्र सिंह धोनी का महलनुमा बंगला

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्‍तान महेंद्र सिंह धोनी के परिवार नए घर …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *