Breaking News
Home / देश / मध्य प्रदेश / दमोह / प्लास्टर ऑफ पेरिस निर्मित(पीओपी)प्रतिमाओं पर हो प्रतिबंध।

प्लास्टर ऑफ पेरिस निर्मित(पीओपी)प्रतिमाओं पर हो प्रतिबंध।

मिट्टी प्रतिमा विक्रेताओं ने की मांग- प्लास्टर ऑफ पेरिस निर्मित (पीओपी) प्रतिमाओं पर हो प्रतिबंध।

जिलाधीश के नाम एडीएम साहब को सौंपा ज्ञापन।

दमोह: सम्पूर्ण भारतवर्ष में इस वर्ष 25 अगस्त 2016 से गणेशोत्सव का शुभारंभ होगा । जहां एक ओर समस्त भारतवासी भगवान गणेश के आगमन को लेकर उत्साहपूर्वक तैयारियों में जुटे हुए हैं तो वहीं जिलेभर के कुम्भकार समाज के लोगों के मस्तिष्क पर चिंता की रेख साफ झलकती दिख रही है। इसका मुख्य कारण केवल इतना ही है कि वर्तमान आधुनिक चकाचौन्ध में प्लास्टर ऑफ पेरिस से निर्मित प्रतिमाओं का प्रचलन चरम पर है। यही कारण है कि मिट्टी की प्रतिमाओं के निर्माण में संलग्न मूर्ति विक्रेताओं को आर्थिक रूप से नुकसान देने हेतु बड़ी बड़ी बड़ी कंपनियां और व्यवसायिओं की सांठगांठ के चलते धार्मिक आस्थाओं पर चोट की जा रही है। मिट्टी  प्रतिमा निर्माता एवम विक्रेताओं के नेता बबलू चक्रवर्ती ने समस्त साथियों के साथ जिलाधीश से मांग की है कि इस वर्ष बड़े पैमाने पर चीन ने भारत देश मे प्लास्टर ऑफ पेरिस प्रतिमाओं के विक्रय को देखते हुए बड़े स्तर पर निवेश कर पीओपी की प्रतिमाएं भारत मे बेंचने की रणनीति बनाई है। एवम मिट्टी प्रतिमा निर्माताओं से उनके पैतृक एवम परंपरागत व्यवसाय को छीनने का प्रयास किया है। समाज के युवा प्रतिनिधि वीरेंद्र चक्रवर्ती ने कहा कि इस वर्ष पिछले वर्ष की तुलना में अधिक मिट्टी प्रतिमाओ का निर्माण कलाकारों द्वारा किया गया है ओर यदि ऐसे में पीओपी प्रतिमा बाजार में विक्रय हेतु आएगी तो निश्चित ही बहुत बड़ा आर्थिक नुकसान मिट्टी प्रतिमा निमार्ताओं को झेलना पड़ सकता है जिससे बड़े नुकसान की संभावना जताई जा सकती है। अतः प्लास्टर ऑफ पेरिस की बनी भगवान गणेश की प्रतिमाओं के विक्रय पर प्रतिबंध लगाने की मांग को लेकर आज शहर भर के मिट्टी प्रतिमा निर्माण करने वाले एवम युवा कुम्भकार समाज के प्रतिनिधियों सहित मिट्टी प्रतिमा विक्रेताओं ने जिलाधीश के समक्ष गुहार लगाई है। ज्ञात हो कि प्लास्टर ऑफ पेरिस के मानक एवम मापदंड पर्यावरण को प्रदूषित करते हुए प्रकृति पर प्रतिकूल प्रभाव डालते हैं जिसकी रिपोर्ट भी वर्ल्ड वाइड वेब पर मौजूद है साथ ही एनजीटी की रिपोर्ट ने भी साफ किया है कि प्लास्टर ऑफ पेरिस प्राकृतिक पर्यावरण के साथ ही जल प्रदूषण के द्वारा मानवीय संरचना पर विपरीत और नकारात्मक प्रभाव डाल रहा है। जिसे ध्यान में रखकर गत वर्ष माननीय सुप्रीम कोर्ट ने प्लास्टर ऑफ पेरिस से बनीं भारी मात्रा में निर्मित गणेश प्रतिमाओं के विक्रय पर प्रतिबंध के आदेश पारित किए थे। जो कि कई हद तक पर्यावरण के हितार्थ सिद्ध हुए थे। जिला कुम्भकार समाज ने उस पूरे प्रकरण की एक फ़ाइल नाट्ठिवद्ध रूप में प्रसाशन को सौंपकर इस वर्ष पुनः मांग की है कि गत वर्ष की भांति इस वर्ष भी जिले भर में प्लास्टर ऑफ पेरिस की प्रतिमाओं के खुले विक्रय पर शीघ्रातिशीघ्र ही प्रतिबन्ध होने की सूचना सार्वजनिक रूप से समस्त व्यवसायिओं तक प्रेषित की जावे जिससे सभी वर्ग के प्रतिमा विक्रेताओं को किसी भी प्रकार से आर्थिक नुकसान न उठाना पड़े। अब देखना होगा कि पर्यावरण संरक्षण के नाम पर प्रतिवर्ष अरबों रुपये की बड़ी राशि व्यय करने वाली सरकार स्थानीय स्तर पर  कुंभकारों एवम मिट्टी प्रतिमा निमार्ताओं के  हित में क्या कार्यवाही करती है। इस अवसर पर समाजसेवी संगठन महाछाञ संघ के पदाधिकारियों की मौजूदगी रही।


ज्ञापन सौंपते हुए मांग करने वालों ने स्पष्ट तौर पर कहा कि यदि प्रशासन द्वारा शीघ्र ही कारवाही के आदेश नही दिए गए तो वे स्वयं ही बाजार में आने वाली प्लास्टर ऑफ पेरिस निर्मित प्रतिमाओं को सीधे जब्त करते हुए विसर्जन करने से भी नही चूकेंगे।

माँग करने वालों में गोपाल चक्रवर्ती,राजा चक्रवर्ती ,प्रदीप चक्रवर्ती, वीरू चक्रवर्ती, गुड्डू चक्रवर्ती ,चिक्कू चक्रवर्ती,आनंद चक्रवर्ती,मन्नू चक्रवर्ती,कमल चक्रवर्ती, विमल चक्रवर्ती,हरिनारायण चक्रवर्ती,लटटू चक्रवर्ती, पंचू, लखन, राजू ,दममू ,हिम्मू ,धर्मेंद्र प्रजापति ,जशवंत, मुन्ना प्रजापति, कल्लू चक्रवर्ती , संजय चक्रवर्ती, श्रीराम सिंह, ठाकुर ,शुभम पाठक, विधान डिम्हां, दीपक चौरसिया, गौरव सोनी सहित अनेकों सदस्यों की महत्वपूर्ण उपस्थिति रही।


कुंभकारों के मध्य से एक विस्तृत रिपोर्ट:-


आशीष तंतुवाय “कबीर” दमोह मध्यप्रदेश

[www.starbhaskar.com स्वतंत्र पत्रकारिता के लिए सबसे बड़ा मंच है। यहां विभिन्न समाचार पत्रों/टीवी चैनलों में कार्यरत पत्रकार अपनी महत्वपूर्ण खबरें प्रकाशन हेतु प्रेषित करते हैं ताकि उनके मुद्दे एवं स्थानीय समस्याएं पूरे प्रदेश के नोटिस में आ सकें।]

TRUSTED SOURCE FOR NEWS

अब अखबार नहीं डिजिटल अखबार पढ़िए’स्टार भास्कर” के साथ यह ताजा सामाचारों का एक डिजिटल माध्यम है जो जनता को सच्चाई देने में समाचारों का एक विश्वसनीय स्रोत बनने का प्रयास है। हमारे दर्शकों के पास समाचार पर टिप्पणी करने और अन्य पाठकों के साथ अपनी स्वतंत्र राय साझा करने का अंतिम अधिकार है हमारी वेबसाइट ब्राउज़ करें और आप की खबर (आज की ताजा खबर) की जाँच करें, साथ ही आपको मिलेगा आपकी खबर के एक्सपर्ट्स की टीम खबरों की तह तक जाने का प्रयास करती है और कोशिस करती है कि सही विश्लेषण के साथ खबर को परोसा जाए जिसमे वीडियो और चित्र की भी प्रमंकिता हो । इसके लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें और भारत में कुछ भी नया घटनाक्रम को घटित होने पर अपने को रखें अपडेट|

नोट:-यदि आपके पास भी है कोई खबर तो आप हमें भेजिए। ईमेल- [email protected]]

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके।

About WFWJ

Check Also

विधि के छात्र-छात्रा फ्रेशर पार्टी में जमकर थिरके

स्टार भास्कर डेस्क/जबलपुर@ सरदार पटेल विधि महाविद्यालय पिपरिया, खमरिया, जबलपुर में आज दिनांक 12/11/2022 को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *