Breaking News
Home / स्वास्थ्य / पिंपल्स को छूने और दबाने की आदत से मुक्ति।

पिंपल्स को छूने और दबाने की आदत से मुक्ति।

पिंपल्स को छूने और दबाने की आदत को इस तरह से करें दूर

​पिंपल्स को छूने और दबा देने से उनके अंदर से निकलने वाला द्रव्य आपकी त्वचा के बाकी हिस्सों पर लग सकता है जिससे आपको बाकी जगह पर भी पिंपल्स निकल सकते हैं। ऐसा करने से आपकी समस्या और बढ़ जाएगी।

सभी महिलाओं और यहां तक कि पुरुषों के लिए भी पिंपल्स एक सबसे बड़ी स्किन प्रोब्लम है और इससे भी बुरी स्थिति वो होती है जब आप खुद को इन्हें छूने से रोक नहीं पाते हैं। ऐसा करने से आपकी त्वचा पर निशान हो जाते हैं जो कभी नहीं जाते। हमें पिंपल्स ना छूने के लिए इसे कहा जाता है क्योंकि इससे ये बड़ सकते हैं और आपके चेहरे पर इंफेक्शन हो सकता है। लेकिन फिर भी हम ऐसा ही करते हैं। क्या आप जानते हैं कि अब आप खुद को पिंपल्स को छूने और दबाने की आदत से रोक सकते हैं। ताकि आप अन्य स्किन प्रोब्लम्स से बच पाएं। आइए जानते हैं वो टिप्स जिनकी मदद से आप पिंपल्स को छूने और दबाने की अपनी आदत को दूर कर सकते हैं।

अपने नाखून छोटे रखें: जब आपको पता है कि आपके चेहरे पर आपका सबसे बड़ा दुश्मन पिंपल आया हुआ है तो इस दौरान कोशिश करें कि आपके नाखून छोटे हो। इससे आप खुद को पिंपल्स को निकालने से रोक पाएंगे। हालांकि हम जानते हैं कि अच्छे से शेप्ड किए हुए नेल्स को यूहीं काटना बहुत मुश्किल होगा लेकिन अगर आप ऐसा करेंगे तो पिंपल्स को दबाना मुश्किल होगा।
अपने हाथों को व्यस्त रखें: कुछ लोगों को पता भी नहीं चलता है कि वो समय-समय पर अपने पिंपल को छूते रहते हैं और पॉप करते रहते हैं। बेहतर है कि आप अधिकतर समय के लिए अपने हाथों को व्यस्त रखें और भिन्न गतिविधियों में बिजी रहे जैसे किताबें पढ़ना, वर्ड पज़ल को सुलझाना आदि। इस तरह की गतिवधि करके आप खुद को पिंपल्स को दबाने से रोक पाएंगे। जब आप इस तरह के कामों में खुद को व्यस्त रखते हैं तो आप भूल से पिंपल्स को छूने की गलती नहीं करते।
अंगुलियों को कवर करके रखें:  एक आसान तरीका ये है कि जब आप घर पर हो तो हाथों में दस्ताने पहनें। यह आपको पिंपल्स को दबाने से रोकेगा। साथ ही अगर आप इस दौरान पिंपल्स को दबाते हैं तो आपकी त्वचा पर इंफेक्शन होने की संभावनाएं कम होंगी। साथ ही आपके अंगुली और हाथों के बैक्टीरिया आपके चेहरे पर हीं जाएंगे।
जब कोई भी तरीका कम नहीं करता है तो उस समय में आपके लिए बेहतर है कि आप शीशे के इस्तेमाल कम करें। यदि आप लिफ्ट से जा रहे हैं, तो पीछे ना मुड़े, वॉशरुम में हैं तो इस्तेमाल के तुरंत बाद बाहर निकल जाएं। आप देखंगे कि जब आप शीशा कम देखेत हैं तो आप पिंपल को पॉप नहीं करते।

About WFWJ

Check Also

अब भर सकेंगे मधुमेह रोगियों के जख्म, नहीं काटने पड़ेंगे संक्रमित अंग

मधुमेह के रोगियों के लिए एक राहत भरी खबर है. इलाज का एक ऐसा नया …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *