Breaking News
Home / टॉप-स्टोरी / पंचमुखी शिवलिंग के दर्शन करने आते हैं नाग-नागिन।

पंचमुखी शिवलिंग के दर्शन करने आते हैं नाग-नागिन।

​नि: संतान को देते हैं पुत्र, दर्शन करने आते हैं नाग-नागिन, ऐसा है पंचमुखी शिवलिंग।

रायपुर: राजधानी के समीप सरोना में करीब 250 साल पुराना प्राचीन शिवलिंग है। यह पंचमुखी है। ऐसी मान्यता है कि यहां नि:संतान मन्नत मांगते हैं तो उन्हें पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है और उनकी सुनी गोद में किलकारियां खिल उठती हैं। इस मंदिर की स्थापना सरोना के जमींदार स्व. गुलाब सिंह ठाकुर के द्वारा संतान प्राप्ति के लिए ही किया गया था। ठाकुर परिवार के वंशजों का कहना है कि उनके पूर्वज निसंतान थे। कई जगह दुवाएं मांगी पर उन्हें पुत्र नहीं मिला, लेकिन मंदिर स्थापना के कुछ साल बाद ही उन्हें पुत्र की प्राप्ति हुई। तभी से इस पंचमुखी शिव का जागृत स्वरूप विख्यात हो गया। यहां दर्शन करने प्रदेश के कोने-कोने से लोग आते हैं। यहां महाशिवरात्रि और सावन मास में विशेष पूजा, अभिषेक और जलाभिषेक होता है । प्रत्येक सोमवार को शिव जी का श्रंृगार किया जाता है।शिव का दर्शन करने आते हैं नाग-नागिन।

यहां के ग्रामीणों का कहना है कि

यहां सालों से नाग-नागिन का जोड़ा आते देख रहे हैं। वे मंदिर के गर्भगृह में भोले का दर्शन कर उनकी प्रतिमा से लिपटकर वापस चले जाते हैं। मंदिर दो तालाबों के बीच में स्थित है, जो इसकी छवि को और भी मनोरम व प्राकृतिक बना देता है। यहां आने पर काफी सकून का अहसास होता है। तालाब में सालों पुराने कछुए हंै। जिसकी आयु का पता नहीं है। यहां आने वाले श्रद्धालु कछुआ और मछली को आटा खिलाते हैं।

आस्था का केन्द्र

ऐसी मान्यता है कि शिव जी की पूजा करने से हर मनोकामना पूरी हो जाती है। दूर-दूर से नि:संतान संतान प्राप्ति के कामना लेकर आते हैं । विशेष पूजा कर मनोकामना ज्योति जलाते हैं। संतान प्राप्ति के साथ हर प्रकार कीमनोकामना पूरी होती है। इस मंदिर का संरक्षण ठाकुर परिवार द्वारा किया जाता है। पूजा के लिए गोस्वामी पुजारी रख गए हैं।

राजधानी के समीप सरोना में करीब 250 साल पुराना प्राचीन शिवलिंग है। यह पंचमुखी है। ऐसी मान्यता है कि यहां नि:संतान मन्नत मांगते हैं तो उन्हें पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है।

[संवाददाता@प्रियंका शुक्ला]


[www.starbhaskar.com स्वतंत्र पत्रकारिता के लिए सबसे बड़ा मंच है। यहां विभिन्न समाचार पत्रों/टीवी चैनलों में कार्यरत पत्रकार अपनी महत्वपूर्ण खबरें प्रकाशन हेतु प्रेषित करते हैं ताकि उनके मुद्दे एवं स्थानीय समस्याएं पूरे प्रदेश के नोटिस में आ सकें।]

TRUSTED SOURCE FOR NEWS

अब अखबार नहीं डिजिटल अखबार पढ़िए’स्टार भास्कर” के साथ यह ताजा सामाचारों का एक डिजिटल माध्यम है जो जनता को सच्चाई देने में समाचारों का एक विश्वसनीय स्रोत बनने का प्रयास है। हमारे दर्शकों के पास समाचार पर टिप्पणी करने और अन्य पाठकों के साथ अपनी स्वतंत्र राय साझा करने का अंतिम अधिकार है हमारी वेबसाइट ब्राउज़ करें और आप की खबर (आज की ताजा खबर) की जाँच करें, साथ ही आपको मिलेगा आपकी खबर के एक्सपर्ट्स की टीम खबरों की तह तक जाने का प्रयास करती है और कोशिस करती है कि सही विश्लेषण के साथ खबर को परोसा जाए जिसमे वीडियो और चित्र की भी प्रमंकिता हो । इसके लिए हमारे न्यूज़लेटर की सदस्यता लें और भारत में कुछ भी नया घटनाक्रम को घटित होने पर अपने को रखें अपडेट|

नोट:-यदि आपके पास भी है कोई खबर तो आप हमें भेजिए। ईमेल- [email protected]]

Disclaimer : इस न्यूज़ पोर्टल को बेहतर बनाने में सहायता करें और किसी खबर या अंश मे कोई गलती हो या सूचना / तथ्य में कोई कमी हो अथवा कोई कॉपीराइट आपत्ति हो तो वह [email protected] पर सूचित करें। साथ ही साथ पूरी जानकारी तथ्य के साथ दें। जिससे आलेख को सही किया जा सके या हटाया जा सके।

About WFWJ

Check Also

क्यों मनाया जाता है,रक्षाबंधन का त्यौहार।

जबलपुर: रक्षाबंधन हर साल श्रावण मास की पूर्णिमा के दिन धूम-धाम से मनाया जाता है. …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *