Monday , August 3 2020
Home / धर्म कर्म

धर्म कर्म

CM ने किया “शिप्रा पाठक” का सम्मान और बोले..!

स्टार भास्कर न्यूज़ जिस बचपन में माँ अपनी बेटी को परीयो की कहानी सुनाती थी उनकी माँ ने धर्म की कहानी सुना के उनको बचपन से ही धर्म से जोड़ दिया। जी हाँ हम बात कर रहे है उत्तर प्रदेश की बदायूँ जिले की शिप्रा पाठक की ये दातागंज तहसील …

Read More »

श्रीमद्भागवत कथा में कराया श्रीकृष्ण- रुक्मणी विवाह, भगवान को भेंट किए उपहार।

जबलपुर@ मनकामेश्वर माता मंदिर पंचमुखी कॉलोनी में श्री हनुमानजी महाराज की अध्यक्षता में श्रीमद् भागवत कथा का आयोजन किया गया है। श्रीकृष्ण-रुक्मिणी विवाह प्रसंग कथा में भागवताचार्य पंचायती निरंजनी अखाड़ा हरिद्वार से श्री श्री 1008 स्वामी चेतनानंद गिरी महाराज के मुखारबिंद से किया गया। कथा के छठवें दिन श्रीकृष्ण और …

Read More »

“खैरापति मंदिर” में होती हैं मनोकामनाएं पूरी, इस वर्ष 86 कलश की स्थापना।

सिवनी/ नवरात्र पर्व बड़े धूमधाम से मनाते है। सभी धर्म के लोगों का क्षेत्र में सहयोग रहता है और रामनवमी में शुक्रवारी चौक राम मंदिर से शोभायात्रा निकालकर पूरे शहर में भ्रमण करती है। सिवनी जिले के अंतर्गत बरघाट की आष्टा में और सिवनी नगर के अंतर्गत भैरोगंज कटंगी रोड …

Read More »

आज चैत्र नवरात्रि का तीसरा दिन ।

स्टार भास्कर डेस्क । आज चैत्ररात्रि का तीसरा दिन है। नवरात्रि के तीसरे दिन मां चंद्रघंटा की पूजा की जाती है और व्रत रखा जाता है। मां के इस रूप की सच्चे मन से पूजा करने से रोग दूर होते हैं, शत्रुओं से भय नहीं होता और लंबी आयु का वरदान …

Read More »

“नर्मदा परिक्रमा” पिता से संघर्ष सीखा है और माता से धर्म: शिप्रा पाठक।

स्टार भास्कर न्यूज़  जिस बचपन में माँ अपनी बेटी को परीयो की कहानी सुनाती थी उनकी माँ ने धर्म की कहानी सुना के उनको बचपन से ही धर्म से जोड़ दिया। जी हाँ हम बात कर रहे है उत्तर प्रदेश की बदायूँ जिले की शिप्रा पाठक की ये दातागंज तहसील …

Read More »

राम के इस आसान महामंत्र का जाप, जीवन में हर मुश्किल से बचे रहेंगे।

जबलपुर | 27 जनवरी 2019 स्टार भास्कर डेस्क@ कहते हैं राम के नाम में जीवन का शाश्वत सच छिपा है इसलिए जो कोई भी इस नाम का जाप करता है उसके जीवन में चाहे कितनी भी परेशानी क्यों ना आए, लेकिन वह मुश्किलों का हल निकाल ही लेता है। यूं …

Read More »

रावण एक प्रख्यात पंडित, शास्त्र रचयिता पर अहंकार ने दिया दशहरा को जन्म: अर्जुन शुक्ला।

जबलपुर |19 अक्टूबर 2018 आज लंकापति रावण को अनीति, अनाचार, दंभ, काम, क्रोध, लोभ, अधर्म और बुराई का प्रतीक मानते हैं और उससे घृणा करते हैं, प्रतिवर्ष पुतला दहन कर अच्छाई की जीत प्रकट करते हैं । लेकिन सबसे महत्वपूर्ण बात यहां यह है कि दशानन रावण में कितना ही …

Read More »

सावन के शनिवार पर इन चीजों का करें दान

सावन का महीना भगवान शिव का महीना होता है. इस महीने में की गई पूजा और उपासना विशेष फलदायी होती है. इस महीने के शनिवार का विशेष महत्व होता है. सावन के महीने के शनिवार को संपत शनिवार भी कहा जाता है. सावन के शनिवार पर उपासना और दान करने …

Read More »

ऋषि पंचमी व्रत कथा,विधि एवम महत्व।

ऋषि पंचमी का व्रत भाद्र पद की शुक्ल पंचमी को किया जाता है। इस दिन सप्तऋषियों की पूजा की जाती है। यह व्रत गणेश चतुर्थी के अगले दिन और हरतालिका तीज के दूसरे दिन किया जाता है। इस व्रत के बारे में ब्रह्माजी ने राजा सिताश्व को बताया था। एक …

Read More »

12 ज्योतिर्लिंगों का महत्त्व व महिमा।

​१२ज्योतिर्लिंगों का महत्व व महिमा भगवान शिव की भक्ति का विशेष दिवस शिवरात्रि है। शिवमहापुराण के अनुसार एकमात्र भगवान शिव ही ऐसे देवता हैं, जो निष्कल व सकल दोनों हैं। यही कारण है कि एकमात्र शिव का पूजन लिंग व मूर्ति दोनों रूपों में किया जाता है। भारत में १२ …

Read More »

द्वादश ज्योतिर्लिंगो से अभीष्ट फल की प्राप्ति।

​द्वादश ज्योतिर्लिंग से अभीष्ट फल की प्राप्ति। जबलपुर: जगदम्बा कालोनी स्थित शिव शक्ति मंदिर में श्रावण मास के पावन पर्व निरंतर मासिक रूद्राभिषेक। इस शुभ अवसर पर आज द्वादश ज्योतिर्लिंगो का निर्माण कर रूद्राभिषेक किया गया। मंदिर के प्रधान पुजारी पं. रामभजन तिवारी शास्त्री जी ने शिवपुराण के अनुसार बताया …

Read More »

पंचमुखी शिवलिंग के दर्शन करने आते हैं नाग-नागिन।

​नि: संतान को देते हैं पुत्र, दर्शन करने आते हैं नाग-नागिन, ऐसा है पंचमुखी शिवलिंग। रायपुर: राजधानी के समीप सरोना में करीब 250 साल पुराना प्राचीन शिवलिंग है। यह पंचमुखी है। ऐसी मान्यता है कि यहां नि:संतान मन्नत मांगते हैं तो उन्हें पुत्र रत्न की प्राप्ति होती है और उनकी सुनी …

Read More »

आषाढ़ की पूर्णिमा ही क्यों है गुरु पूर्णिमा

आषाढ़ शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को गुरु पूर्णिमा के रूप में पूरे देश में उत्साह के साथ मनाया जाता है. भारतवर्ष में कई विद्वान गुरु हुए हैं, किन्तु महर्षि वेद व्यास प्रथम विद्वान थे, जिन्होंने सनातन धर्म (हिन्दू धर्म) के चारों वेदों की व्याख्या की थी. सिख धर्म केवल एक …

Read More »

स्त्रियां कभी नारियल क्यों नहीं फोड़ती हैं

नारियल को हिन्दू धर्म में एक शुभ फल माना जाता है, अक्सर लोग किसी काम की नींव रखते हैं तो सबसे पहले नारियल को फोड़ कर उसका शुभारंभ करते हैं।नारियल को श्रीफल के नाम से भी जाना जाता है। ऐसी मान्यता है की जब भगवान विष्णु ने पृथ्वी पर अवतार …

Read More »