Thursday , May 13 2021
Home / देश / मध्य प्रदेश / जबलपुर / व्यावहारिक विज्ञान मानव भविष्य की एक महती आवश्यकता : प्रो. शर्मा

व्यावहारिक विज्ञान मानव भविष्य की एक महती आवश्यकता : प्रो. शर्मा

स्टार भास्कर डेस्क/जबलपुर@ ओ.एफ.के. शासकीय महाविद्यालय में विज्ञान दिवस पर आज राष्ट्रीय वेबिनार का आयोजन किया गया। आयोजन माँ सरस्वती के पूजन पश्चात कार्यक्रम के संरक्षक रानी दुर्गावती विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. कपिल देव मिश्र जी के ओजस्वी उदबोधन से प्रारंभ हुआ, तत्पश्चात ओ .एफ.के. शासकीय महाविद्यालय के प्राचार्य प्रो. जी.पी. चैरसिया ने विज्ञान दिवस पर अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संयोजन डॉ. रीता भंडारी प्राध्यापक, प्राणी-शास्त्र विभाग एवं आई.क्यू .ए.सी. प्रभारी के निर्देशन में हुआ अतिथि परिचय एवं धन्यवाद सह संयोजक डॉ. प्रतिमा दीक्षित द्वारा दिया गया। कार्यक्रम में 600 पंजीयन हुए एवं ऑनलाइन रूप से 450 लोगो ने अपनी सहभागिता गूगलमीट व यूट्यूब के माध्यम से दी।

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि एवं मुख्य वक्ता के रूप में एम.डी.एस. विश्वविद्यालय अजमेर (राजस्थान) के पूर्व कुलपति एवं सोनो टेक्सोनोमी से अपनी अलग पहचान बनाने वाले प्रो. कृष्ण कुमार शर्मा एवं एशिया बुक एवं इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करवा कर संस्कारधानी को गौरवान्वित करने वाले डॉ. अर्जुन शुक्ला रहे। प्रो. शर्मा ने अपने उद्बोधन में कहा कि व्यावहारिक विज्ञान मानव भविष्य की एक महती आवश्यकता है, साथ ही स्टेम सेल के साथ विभिन्न तकनीको पर अपने विचार रखे। डॉ. अर्जुन ने आसमां है नीला क्यों? पानी गीला गीला क्यों? गोल क्यों है जमी? के तर्क पर विज्ञान एवं रमन जी के व्यक्तित्व पर प्रकाश डाला।

मध्य प्रदेश की ताजा खबरें- यहां क्लिक करें

About admin-star

Check Also

समाज सेवी पिंटू रूपेश पटेल ने नशा पीड़ित और मानसिक रोगियों के उपचार हेतु आश्रम को दान किए 21000 रुपए।

स्टार भास्कर डेस्क/जबलपुर@ नशा पीड़ित तथा मानसिक रोगियों के उपचार हेतु संचालित संस्था शांतम प्रज्ञा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *