Saturday , September 18 2021
Home / देश / मध्य प्रदेश / जबलपुर / अंतरराष्ट्रीय रक्तदाता दिवस: रक्तदान महादान, दूजों के बचाए प्राण।

अंतरराष्ट्रीय रक्तदाता दिवस: रक्तदान महादान, दूजों के बचाए प्राण।

आज हमें कोरोना के अलावा एक और बड़ी समस्या का सामना करना पड़ रहा है और यह समस्या है रक्त की कमी। गंभीर बीमारियों के मरीजों के ऑपरेशनों, कम हीमोग्लोबिन वाली गर्भवती महिलाओं तथा हमारे थैलेसीमिया से ग्रस्त बच्चों को रक्त की कमी से बहुत अधिक परेशान होना पड़ रहा है।

श्रेया खंडेलवाल का यह कहना है कि आप पहले के समान पूरी उदारता के साथ अपना रक्तदान करते रहें।1 मई से 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के लोगों को भी वैक्सीन लगना प्रारंभ हो गया है। 90% रक्तदान यही समूह करता है। वैक्सीन आप अवश्य लगवाइए।यह हमारा राष्ट्रीय कर्तव्य है, लेकिन वैक्सीन का कोर्स करते हुए आपके रक्तदान में बीच – बीच में अवरोध आता रहेगा। जैसे ,हम कोई भी अच्छा कार्य करने के पहले मंदिर – मस्जिद – चर्च – गुरुद्वारा जाते हैं। उसी प्रकार आप वैक्सीनेशन का महत्वपूर्ण कार्य करने के पूर्व यदि रक्तदान – जैसा महान कार्य भी कर दें, तो सोने में सुहागा हो जाए।

मैं अभी 18 वर्ष की नहीं हूं, अतः यह मेरा दुर्भाग्य है कि मैं यह पुनीत कार्य नहीं कर पा रही हूं। किंतु, इस 13 अगस्त को अपने 18 वें जन्मदिन पर ही मैं इस रक्तदान के पवित्र यज्ञ में आहुति देना प्रारंभ कर दूंगी। मेरे पापा श्री विकास खंडेलवाल ने अभी 53 वर्ष की उम्र में अपना 61 वां रक्तदान किया है। उनका 100 रक्तदान का लक्ष्य है। मेरी मम्मी श्रीमती अर्चना खंडेलवाल भी रक्तदाता हैं। इन्होंने देहदान तथा नेत्रदान का भी संकल्प लिया है।
मेरी पुनः आप सबसे यह करबद्ध प्रार्थना है कि अपनी कोविड वैक्सीन लगवाने के पहले रक्तदान अवश्य करें।

मध्य प्रदेश की ताजा खबरें- यहां क्लिक करें

About admin-star

Check Also

अंतर्राष्ट्रीय वेब कांफ्रेंस में सम्मानित हुए गुरु – शिष्य

स्टार भास्कर डेस्क/जबलपुर@ शहर के डॉ. प्रीती खरे व डॉ. अर्जुन शुक्ला को अवार्ड एवं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *