Monday , August 3 2020
Home / दुनिया / CM ने किया “शिप्रा पाठक” का सम्मान और बोले..!

CM ने किया “शिप्रा पाठक” का सम्मान और बोले..!

स्टार भास्कर न्यूज़

जिस बचपन में माँ अपनी बेटी को परीयो की कहानी सुनाती थी उनकी माँ ने धर्म की कहानी सुना के उनको बचपन से ही धर्म से जोड़ दिया। जी हाँ हम बात कर रहे है उत्तर प्रदेश की बदायूँ जिले की शिप्रा पाठक की ये दातागंज तहसील की रहने वाली है।

देहरादून@ नदी जल की स्वच्छता को बनाये रखने को लेकर जनजागरण की अलख जगाने के लिए पैदल चलकर 108 दिनों में अकेले नर्मदा की 3600 कि.मी. परिक्रमा करने वाली उत्तर प्रदेश के जनपद बदायूँ निवासी शिप्रा पाठक ने मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत से मुख्यमंत्री आवास में शिष्टाचार भेंट की।


इस दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने शिप्रा पाठक के इस साहसिक एवं प्रेरणापरक कार्य के लिए उन्हें सम्मानित भी किया। मुख्यमंत्री से भेंट के दौरान सुश्री शिप्रा पाठक ने बताया कि उन्होंने यह परिक्रमा नवंबर, 2018 में प्रारम्भ की थी, जो फरवरी, 2019 में पूर्ण हुई। यह परिक्रमा उन्होंने मध्यप्रदेश के ओमकारेश्वर से प्रारम्भ की थी, जो महाराष्ट्र, गुजरात, छत्तीसगढ़ होते हुए वापस मध्यप्रदेश में आकर पूरी हुई। उन्होंने बताया कि इससे पहले भी कई धार्मिक स्थलों, कैलाश मानसरोवर, ब्रज की 84 कोस और अयोध्या में लगातार 24 घंटे होने वाली विशेष परिक्रमा भी की है। इसके अलावा मनकामेश्वर पर्वत पर 10 कि.मी. की परिक्रमा की है। इस यात्रा का लक्ष्य निज आध्यात्मिक स्वार्थ तक न होके पर्यावरण जल स्वच्छता का बचाव तथा तट किनारे निवास करने वाले लोगों को शिक्षित कर उनको पर्यावरण के बचाव के लिए जागरूक करना है। इस अवसर पर सुश्री शिप्रा पाठक ने परिक्रमा के दौरान मिले अनुभवों को उनके द्वारा लिखी गई पुस्तक ‘रिवा’ मुख्यमंत्री को भेंट की।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने उन्हें शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हमारी भावी पीढ़ी धार्मिकता एवं संस्कृति की ओर अग्रसर हो रही हैं। साथ ही उन्होंने कहा कि नदी जल को स्वच्छ करने के लिए शिप्रा पाठक द्वारा किये गए कार्य समाज के लिए एक मिसाल पेश है।

नर्मदा परिक्रमा ही क्यूँ?

पूछने पे उत्तर दिया: ब्रह्माण्ड की सबसे पुरानी नदी नर्मदा को कहा गया है। यह चिरकाल से यहां अविरल बह रही है। इसके बारे में कहा जाता है कि जब तक दुनिया में जीवन रहेगा यह इसी तरह प्रवाहित होती रहेगी। इसके हर घाट, तट पर एक नया रहस्य, इतिहास और कहानियां जुड़ी हुई हैं। कोई इसे जगतजननी कहता है तो किसी ने इसे शिव पुत्री के रूप में स्वीकार किया है।

मध्य प्रदेश की ताजा खबरें- यहां क्लिक करें

About admin-star

Check Also

जबलपुर, मण्डला और दमोह सहित कई शहरों में टोटल लॉकडाउन।

स्टार भास्कर डेस्क@ रविवार को टोटल लॉकडाउन रखा गया है। इस दौरान केवल इमरजेंसी सेवाएं …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *