Tuesday , June 2 2020
Home / देश / मध्य प्रदेश / जबलपुर / बच्ची “श्रष्टि” के जज्बे को जबलपुर कलेक्टर का सलाम: जन्मदिन पर पॉकेट मनी की सेविंग “रेडक्रॉस सोसायटी” को दान की।

बच्ची “श्रष्टि” के जज्बे को जबलपुर कलेक्टर का सलाम: जन्मदिन पर पॉकेट मनी की सेविंग “रेडक्रॉस सोसायटी” को दान की।

स्टार भास्कर डेस्क/शैलेष दुबे@ जबलपुर: कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने की लड़ाई में जिला रेडक्रॉस सोसायटी को दान देने वालों के संख्या लगातार बढ़ती जा रही है । सामाजिक एवं व्यावसायिक संस्थाओं के साथ आम नागरिक भी रेडक्रॉस सोसायटी को अपनी क्षमता के मुताबिक सहयोग प्रदान कर रहे हैं । इस कड़ी में एक बच्ची श्रृष्टि मेश्राम ने अपने 13वें जन्मदिन पर रेडक्रॉस सोसायटी को 11 हजार रुपये का चेक आज बुधवार को कलेक्टर भरत यादव को सौंपा । श्रृष्टि ने यह राशि पिछले चार साल में अपनी पॉकेट मनी से बचाई है । कलेक्टर श्री यादव ने केंद्रीय विद्यालय वन एसटीसी की कक्षा आठवीं की इस छात्रा के गरीब और बेसहारा लोगों की मदद के इस जज्बे की तारीफ की और उसे जन्म दिन की शुभकामनाएं भी दी ।

रोग प्रतिरोधक होम्योपैथी-आयुर्वेद औषधियों का वितरण जारी
जिला आयुष अधिकारी द्वारा 30 टीमें गठित

जिला आयुष अधिकारी डॉ. अर्चना मरावी ने बताया है कि कोरोना वायरस से बचाव के लिए शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों के लिए कुल 30 टीमों का गठन किया गया है। तीन टीम शहरी क्षेत्रों तथा 27 टीम ग्रामीण क्षेत्र के लिये गठित की गयी हैं। इन टीमों द्वारा आयुर्वेदित तथा होम्योपैथी दवायें, रोग प्रतिरोधक शक्ति बढ़ाने के लिये घर-घर जाकर वितरित की जा रही हैं।
जिला आयुष अधिकारी ने बताया कि होम्योपैथी दवा आरसेनिक एल्बम 30 और आयुर्वेद औषधि त्रिकटु चूर्ण, संशमनी बटी और अणु तेल का हजारों लाभार्थियों को प्रतिदिन वितरण किया जा रहा है।
संचालनालय आयुष म.प्र. के निर्देशानुसार इस कार्य के लिये जिला आयुष अधिकारी द्वारा अधीनस्थ आयुष चिकित्सकों तथा पैरामेडिकल स्टॉफ की ड्यूटी लगाकर सतत् निगरानी की जा रही है।

कोरोना वायरस के मरीजों एवं क्वारेंटाइन व्यक्तियों का इलाज कर रहे डॉक्टर-नर्सों के लिये, तीन होटल रिसोर्ट अधिग्रहित

नोवल कोरोना वायरस के मरीजों के इलाज तथा क्वारेंटाइन में रखे गये व्यक्तियों की देखभाल के लिए मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय, विक्टोरिया जिला चिकित्सालय और सुखसागर में 24 घंटे कार्यरत चिकित्सकों तथा पैरामेडिकल स्टॉफ के ठहरने और भोजन-पानी आदि व्यवस्थाओं के लिये कलेक्टर भरत यादव ने जबलपुर नगर के तीन होटल रिसोर्ट के कक्षों को अग्रिम आदेश तक अधिग्रहित किया है । यह आदेश आपदा प्रबंधन अधिनियम 2005 की धारा 30 के तहत जारी हुआ है । दो होटल मालिकों द्वारा अपने होटल स्वेच्छा से जिला प्रशासन को उपलब्ध कराए हैं।
आदेश के तहत बरगी हिल्स जबलपुर स्थित कोकिला रिसोर्ट के 20 कक्षों को मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय के चिकित्सकों एवं नर्सों के ठहरने के लिये, रॉयल आर्बिट तिलवारा के 15 कक्षों को सुखसागर और मेडिकल कॉलेज चिकित्सालय के डॉक्टर्स और नर्सों हेतु और रसल चौक स्थित होटल सम्राट के 15 कक्षों को विक्टोरिया जिला चिकित्सालय में कार्य कर रहे डॉक्टर्स और नर्सों के ठहरने के लिये अधिग्रहित किया गया है । आदेश 7 अप्रैल से प्रभावशील हो गया है । रॉयल आर्बिट तिलवारा और होटल सम्राट ने स्वेच्छा से जिला प्रशासन को कक्ष उपलब्ध कराये हैं ।

सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करने वाली दवा दुकान होगी बन्द

शहर में ऐसी दवा दुकानों के संचालकों पर अब कड़ी कार्यवाही की जायेगी जहाँ एक साथ समूह में लोग खड़े मिलेंगे और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का उल्लंघन पाया जायेगा ।
कलेक्टर भरत यादव ने यह जानकारी देते हुए बताया कि टोटल लाकडाउन के दौरान शहर और जिले में सभी दवा दुकानों को पूरे दिन खुले रखने की छूट दी गई है । लेकिन देखा यह जा रहा है कि इन दुकानों पर भीड़ हो रही है और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का पालन भी नहीं किया जा रहा है । श्री यादव ने कहा कि प्रशासन सोशल डिस्टेंसिंग के उल्लंघन की शिकायत मिलने पर मेडिकल स्टोर्स को बंद कराने की कार्यवाही करेगा । ऐसी दुकानों को सील किया जायेगा और उनके लायसेंस भी निरस्त किये जायेंगे । कलेक्टर ने कहा कि दवा दुकानों पर भीड़ न लगे और सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों का सख्ती से पालन हो इसकी जबाबदारी सम्बन्धित दुकान संचालक को निभानी होगी ।
मेडिकल स्टोर्स को देनी होगी सर्दी, खाँसी और बुखार की दवा लेने वालों की सूची :-
कलेक्टर श्री यादव ने कहा कि जिले के प्रत्येक मेडिकल स्टोर्स संचालक को अब उनकी दुकान से सर्दी, खाँसी एवं बुखार की दवा लेने वालों की सूची सम्बन्धित पुलिस थाने को देनी होगी । उन्होंने बताया कि यह कदम कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिये सतर्कता के बतौर उठाया जा रहा है । मेडिकल स्टोर्स संचालकों से मिली जानकारी के आधार पर ऐसे लोगों पर नजर रखी जायेगी और जरूरत पड़ने पर परीक्षण हेतु उनके सेंपल भी लिये जायेंगें।

जेडीए के अधिकारियों-कर्मचारियों ने दिया एक दिन का वेतन

कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिये जबलपुर विकास प्राधिकरण के अधिकारियों-कर्मचारियों ने अपना एक दिन का वेतन 1लाख 85 हजार 065 रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष में प्रदान किया है । इस राशि का चेक कलेक्टर श्री भरत यादव को प्राधिकरण के सीईओ राजेन्द्र राय ने आज बुधवार को सौंपा । इस अवसर पर अजय सिंह भी मौजूद थे ।

गेहूं उपार्जन केन्द्रों में नियमित स्वास्थ्य जाँच के निर्देश
मास्क-सेनेटाइजर-साबुन उपलब्ध कराया जायेगा

कलेक्टर भरत यादव ने मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को निर्देश दिये हैं कि समर्थन मूल्य पर गेहूं उपार्जन के लिये बनाये गये जिले के सभी 150 उपार्जन केन्द्रों में कार्यरत हम्माल और अन्य कर्मचारियों का प्रति दो या तीन दिवस में स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाय। उनकी तथा जनसामान्य की सुरक्षा को दृष्टिगत रखते हुए विशेषज्ञ चिकित्सक और नर्सिंग स्टॉफ की टीम गठित की जायं, जो कि निर्धारित समय अंतराल पर उपार्जन केन्द्र पर जाकर स्वास्थ्य परीक्षण करेगी। कलेक्टर ने उपार्जन केन्द्रों में कार्य करने वाले व्यक्तियों के लिये मास्क, सेनेटाइजर और हाथ धोने के लिये साबुन उपलब्ध कराने के निर्देश दिये हैं ।
ज्ञातव्य है कि रबी विपणन वर्ष 2020-21 में दिनांक 15 अप्रैल से 22 मई तक गेहूं का उपार्जन होगा।

प्रवासी मज़दूरों के लिए सजग है जिला प्रशासन

जबलपुर जिले में अन्य जिलों से तथा प्रांतों से आने जाने वाले मजदूरों को जिला प्रशासन द्वारा सुरक्षित आवास सुविधा उपलब्ध कराई गई है तथा उनको आवश्यक दैनिक जरूरतों की आपूर्ति उपलब्ध कराई जा रही है। बरगी आदिवासी छात्रावास में तैनात वार्डन प्रीतम लाल साहू ने बताया कि-” नागपुर तथा हैदराबाद से आने वाले प्रवासी मजदूर छात्रावास में सुरक्षित है तथा उनकी नियमित देखभाल और स्वास्थ्य जांच की जा रही है”। ये प्रवासी मजदूर हैदराबाद और नागपुर से जबलपुर होते हुए अपने गंतव्य के लिए जा रहे थे। चिकित्सा विभाग का अमला तहसीलदार के मार्गदर्शन पर उन्हें आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध करा रहा है इसी तरह प्रमोद चतुर्वेदी तहसीलदार पनागर द्वारा अवगत कराया गया कि पनागर में बीजापुर से आए तीन महिला मजदूर तथा दो बालिकाओं को भी आवासीय एवं भोजन व्यवस्था एवं नियमित स्वास्थ्य परीक्षण कराया जा रहा है।

मध्य प्रदेश की ताजा खबरें- यहां क्लिक करें

About admin-star

Check Also

गर्मी में पशु-पक्षियों के लिए भी करें दाना-पानी की व्यवस्था

स्टर भास्कर डेस्क@ गर्मी में पानी को अमृत के समान माना जाता है, मनुष्य को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *