Wednesday , April 1 2020
Breaking News
Home / देश / मध्य प्रदेश / जबलपुर / नारी शक्ति अब समर्थ है, अवला नहीं: डॉ. श्याम शुक्ला

नारी शक्ति अब समर्थ है, अवला नहीं: डॉ. श्याम शुक्ला

स्टार भास्कर डेस्क@ समाज की हर चुनौतियों का सामना करने नारी अब सक्षम है, अबला जैसे शब्दों से संबोधित ना करें समाज उक्त विचार डॉ श्याम शुक्ला द्वारा अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस दिवस के उपलक्ष में साहित्यिक संस्था सृजन पथ कि मासिक काव्य गोष्ठी मैं व्यक्त किए।

डॉ. राखी चतुर्वेदी जी के मुख्य अतिथि एवं श्रीमती नीरजा श्रीवास्तव की अध्यक्षता मैं डॉ श्याम शुक्ला जी एवं सुश्री संध्या दुबे जी के काव्य पटल का अनावरण कर अतिथियों द्वारा उनका अभिनंदन किया गया। संस्था द्वारा वरिष्ठ समाजसेवी श्री शरद अग्रवाल जी को गौडी चित्रकला-जनगण श्याम संकलन का विमोचन उपराष्ट्रपति माननीय एम. वेंकैया नायडू जी के कर कमलों से विमोचन किया गया इस उपलब्धि हेतु संस्था के अध्यक्ष आलोक श्रीवास्तव एवं पदाधिकारि् द्वाराश्री शरद अग्रवाल जी का सम्मानित किया गया।


दूसरे चरण में संस्था के संस्थापक – संयोजक दीपक तिवारी “दीपक” के संचालन में नारी शक्ति एवं कवियों ने अपनी श्रेष्ठ रचना प्रस्तुत की जिसमें , सर्वश्री अभय तिवारी,विवेक चतुर्वेदी, इरफान झांस्वी, आशुतोष “असर”, डॉ गोपाल दुबे, नरेंद्र शर्मा, विजेंद्र उपाध्याय, मेंराज जबलपुरी, आलोक पाठक , प्रमोद तिवारी “मुनि, देव दर्शन सिंह, सिद्धेश्वरी शराफ, विनीता पैगवार, रजनी कोठारी, रजिया आशी, शशि परिहार, डॉ शिवानी गौतम, मांडवी दुबे आदि शामिल रहीं। आभार प्रदर्शन अध्यक्ष आलोक श्रीवास्तव द्वारा किया गया
आयोजन में डाॅ.अल्केश चतुर्वेदी ,डॉ.अनिल कोरी.मोहन लोधिया, भारत भूषण साहू ,अजय मिश्रा ,स्नेह लता उपाध्याय की विशेष उपस्थिति रही।

(रिपोर्ट@अमित सोनी,जबलपुर)

About admin-star

Check Also

कोरोना: विषम परिस्थितियों में भी, शासकीय सेवक करते है कार्य।

कोरोनावायरस की विषम परिस्थितियों में शासकीय सेवक व शासकीय दायित्वों का निर्वहन किया जा रहा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *