Saturday , July 4 2020
Home / होम / देखिये-8 खबरे: प्रदेश में प्रतिदिन बनने लगे 12 हजार पीपीई किट्स।

देखिये-8 खबरे: प्रदेश में प्रतिदिन बनने लगे 12 हजार पीपीई किट्स।

देखिये फटाफट 8 खबरें


देखिये Live:

अभी अभी जबलपुर कलेक्टर भरत यादव ने दी महत्वपूर्ण जानकारी।

स्टार भास्कर डेस्क/ शैलेष दुबे@ प्रदेश में कोरोना से जंग लड़ने में लगे कोरोना योद्धाओं के लिये पीपीई किट्स की प्रतिदिन सरप्लस में उपलब्ध हैं। आज की स्थिति में प्रदेश में प्रतिदिन 10 हजार पीपीई किट्स की आवश्यकता है जबकि प्रतिदिन 12 हजार किट्स बनाई जा रही हैं।
प्रबंध संचालक राज्य औद्योगिक विकास केन्द्र श्री कुमार पुरूषोत्तम ने बताया कि अभी तक डेढ़ लाख किट निर्मित कर प्रदाय किये जा चुके हैं। इसमें से इंदौर और भोपाल में लगभग 75-75 हजार किट भेजे गये हैं। भोपाल से अन्य जिलों को आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने बताया कि इन्दौर में दानदाता बड़ी संख्या में पीपीई किट प्रदाय करने के लिये सामने आ रहे हैं। भोपाल और इन्दौर में लगभग 40 हजार किट अभी स्टॉक में उपलब्ध हैं और आवश्यकतानुसार जिलों में भेजे जा रहे हैं।

जबलपुर संभाग में एक लाख 84 हजार मैट्रिक टन गेहूं की खरीदी

प्रदेश में गत 15 अप्रैल से प्रारंभ हुई गेहूँ समर्थन मूल्य पर खरीदी में आज तक लगभग 5 हजार खरीदी केन्द्रों के माध्यम 3 लाख 77 हजार 770 किसानों से 17 लाख 11 हजार 28 मीट्रिक टन गेहूं की खरीदी की जा चुकी है। वहीं जबलपुर संभाग के जबलपुर, नरसिंहपुर, सिवनी, छिन्दवाड़ा, कटनी, मण्डला और बालाघाट जिले के 41 हजार 204 किसानों से एक लाख 84 हजार 210 मीट्रिक टन गेहूँ की खरीदी 1925 रूपये प्रति क्विंटल की दर से की गई है ।
कोरोना संक्रमण के कारण रबी उपार्जन में खरीदी प्रक्रिया लगभग 15 दिन देरी से प्रारंभ हो सकी है। मजदूरों की कमी और लॉकडाउन के कारण गेहूँ की कटाई का कार्य भी धीमी गति से प्रारंभ हुआ है। गेहूँ कटाई के लिये राज्य सरकार द्वारा विज्ञापन प्रकाशित कर किसानों की सुविधा के लिए हार्वेस्टर की व्यवस्था की गई है। परिणामस्वरूप खरीदी केन्द्रों पर अब धीरे-धीरे गेहूँ उपज की बम्फर आवक हो रही है

रबी उपार्जन में धर्म-काँटे की तौल को मान्यता

इस वर्ष रबी उपार्जन में धर्म-काँटे की तौल को ही मान्यता दी गई है। प्रबंध संचालक स्टेट सिविल सप्लाईज कॉर्पोशन श्री अभिजीत अग्रवाल ने कहा है कि उपार्जन केन्द्रों पर खरीदी के दौरान तौल की शिकायतों के शत-प्रतिशत निराकरण के लिए धर्म-काँटे की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।
प्रबंध संचालक श्री अग्रवाल ने कहा कि रबी उपार्जन प्रक्रिया में तौल प्रक्रिया को फुलप्रूफ बनाया गया है। परिवहन के पूर्व उपार्जन केन्द्र के करीब के पूर्व से चिन्हांकित धर्म-काँटे पर खाली ट्रक का वजन कराया जाएगा। इसके लिए धर्म-काँटों पर वे-ब्रिज प्रभारी अधिकारियों की नियुक्ति की गई है।
खरीदी केन्द्र पर अस्थाई भंडारण से 50 किलोग्राम से बोरे को इलेक्ट्रिक काँटे से तौलकर तैयार किया जाएगा। गोदाम पर ले जाने से पूर्व परिवहनकर्ता के प्रतिनिधि के सामने सैंपल के तौर पर कुछ बोरे तौल कर परिवहनकर्ता के सुपुर्द किए जाने के निर्देश दिए गए हैं। परिवहनकर्ताओं को डिजिटल ट्रांसपोर्ट चालान, तौल विवरण के लिए दिया जाएगा। इसके बाद रबी फसलों से भरे ट्रक लोडिंग के वजन का निर्धारण धर्म-काँटे पर कराया जाएगा। धर्म-काँटे पर हुए वजन को ही अंतिम माना जाएगा।

स्वास्थ्य मिशन में संविदा नियुक्ति हेतु
ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि कल

प्रदेश में कोविड-19 महामारी की रोकथाम के लिये मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन अंतर्गत एक वर्ष के लिये जिला डाटा मैनेजर, आई.डी.एस.पी. कार्यक्रम के पद पर संविदा नियुक्ति की जाएगी। इसके लिये वेबसाइट www.sams.co.in पर 27 अप्रैल, 2020 तक ऑनलाइन आवेदन आमंत्रित किये गये हैं।

मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना से मिलेगा गरीबों, श्रमिकों और अनुसूचित जाति-जनजाति वर्ग के पात्र हितग्राहियों को लाभ

राज्य में गरीबों, अनुसूचित जाति, जनजाति वर्ग और श्रमिकों के कल्याण के लिए संचालित मुख्यमंत्री जनकल्याण (संबल) योजना का प्रभावी क्रियान्वयन होगा । इस योजना के क्रियान्वयन की हर बाधा दूर होगी । साथ ही हर पात्र वर्ग को लाभांवित किया जायेगा ।
संबल योजना के तहत मुख्य रूप से सामान्य और असामान्य के मृत्यु पर अंत्येष्ठि सहायता, विभिन्न तरह की अपंगता पर अनुग्रह सहायता और लघु व्यवसाय के उन्नयन के लिए योजना में मदद दिए जाने का प्रावधान है । योजनान्तर्गत गरीबों और वंचित वर्ग को जन्म से मृत्यु तक आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा यह योजना बनवाई गई थी ।
संबल योजना की विशेषताएं
मध्यप्रदेश में वर्ष 2018 में मुख्यमंत्री शिवराज चौहान की पहल पर प्रारंभ की गई मुख्यमंत्री जन कल्याण (संबल) योजना में असंगठित श्रमिकों को लाभान्वित करने का प्रावधान है। असंगठित श्रमिकों में उन्हें पात्र माना गया है, जो एक हैक्टेयर से कम भूमि के धारक हों, आयकर दाता न हों, शासकीय सेवा में ना हों, जिन्हें पी.एफ., ग्रेच्युटी एवं ई.एस.आई. का लाभ नहीं मिलता हो। योजना में असामयिक मृत्यु पर अनुग्रह सहायता, अंत्येष्टि सहायता और अपंगता पर आर्थिक सहायता का प्रावधान किया गया था। योजना को राज्य के जरूरतमंद लोगों के लिए लागू किया गया था।
संबल योजना में 5 हजार रुपए की राशि अंत्येष्टि के लिये सहायता के रूप में दी जाती थी। सामान्य मृत्यु पर 2 लाख रूपये की राशि और दुर्घटना से मृत्यु होने पर चार लाख रुपए की राशि परिजन को देने का प्रावधान किया गया था। इसी तरह, स्थाई अपंगता पर 2 लाख रूपये की अनुग्रह सहायता एवं आंशिक स्थाई अपंगता पर एक लाख रूपये की अनुग्रह सहायता देने का प्रावधान किया गया। उन्नत व्यवसाय के लिए उपकरण क्रय करने बैंक से प्राप्त ऋण का 10 प्रतिशत अथवा 5 हजार रुपये, जो कम हो, वह भी इस योजना में देने का प्रावधान है।

मलेरिया से सावधान व सतर्क रहें
स्वास्थ्य विभाग ने जारी की एडवायजरी

स्वास्थ्य विभाग ने आम लोगों को मलेरिया से सुरक्षा एवं बचाव की सावधानी एवं सतर्कता बरतने के लिये एडवायजरी जारी किया है ।
जिला मलेरिया अधिकारी द्वारा इस संबंध में जनसमुदाय को मलेरिया से बचाव के लिए छत एवं घर के आसपास अनुपयोगी सामग्री में पानी जमा न होने देने की अपील की है । साथ ही सप्ताह में एक बार अपनी टंकी, डिब्बा, बाल्टी आदि का पानी खाली कर दें और अच्छी तरह से धोकर सुखाकर उपयोग में लायें। सप्ताह में एक बार अपने कूलर का पानी खाली कर साफ कर एवं सुखाकर पानी भरें । पानी के बर्तन, टंकियों आदि को ढंककर रखें । हैण्डपंप और पानी के स्त्रोतों के आसपास पानी एकत्रित होने न दें । घर के आसपास के गड्ढों को मिट्टी का तेल या जला हुआ आइल डालें । मच्छरों से बचाव के लिए फुल बांह के कपड़े पहनें । मच्छर को भगाने के लिए नीम का धुंआ करें एवं अन्य कीटनाशक का भी उपयोग कर सकते हैं ।
मच्छरों से होने वाले रोगों से बचाव के लिए सदैव मच्छरदानी का उपयोग करें एवं अपने घर की दरवाजे, खिड़कियों में मच्छररोधी जाली का उपयोग करें । बुखार आने पर शासकीय चिकित्सालयों में खून की जांच करायें यह पूर्णत: नि:शुल्क है ।

आज 12 हजार से अधिक शहरवासियों को दी गई
नि:शुल्क रोग प्रतिरोधक औषधियाँ

शासकीय स्वशासी आयुर्वेद महाविद्यालय एवं चिकित्सालय के प्रधानाचार्य डॉ. एल.एल. अहिरवाल की निगरानी में रविवार को जबलपुर शहर के विभिन्न क्षेत्रों के 12 हजार 771 रहवासियों को आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक रोग प्रतिरोधक औषधियाँ नि:शुल्क प्रदान की गई।
प्रधानाचार्य डॉ. अहिरवाल ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव में रोग प्रतिरोधक औषधियाँ बेहतर कार्य करती हैं। सावधानी ही सुरक्षा के मूलमंत्र पर शहरवासियों को आयुर्वेदिक व होम्योपैथिक दवाइयों का नि:शुल्क वितरण जारी है। ताकि शहरवासियों में पर्याप्त रोग प्रतिरोधक क्षमता विकसित हो जाय और वे हर प्रकार की बीमारी से सुरक्षित रहें। डॉ. अहिरवाल ने बताया कि रविवार को चिकित्सकों की टीम ने शहर के 90 क्वार्टर एस.बी.आई. चौक विजयनगर, ककरैया मोहल्ला गोरखपुर, बुचड़ी मोहल्ला मोदीबाड़ा गोरखपुर, सिविल लाइन, शीतलामाई बम्बा देवी मंदिर, शांतिनगर दमोहनाका, माँ नर्मदा नगर बिलहरी, गजरथ कालोनी मेडिकल, साहू मोहल्ला कंचनपुर, सदर तरंग कंपाउंड, गोलबाजार, बगरू कसाई मोहल्ला पोलीपाथर, रांझी थाना परिसर सहित कई शासकीय संस्थानों के अधिकारियों एवं कर्मचारियों को नि:शुल्क त्रिकुट चूर्ण, संशमनी वटी और होम्योपैथिक् आरसेनिक एलबम-30 का वितरण किया गया ।

ये भी देखिये:

आखिर क्यों लिखना पड़ा कम्प्यूटर बाबा को दोबारा पत्र

जिला पंचायत में बिक्री हेतु कॉटन मॉस्क उपलब्ध

अतिरिक्त मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत ने बताया कि यदि किसी भी विभाग या संस्था को कॉटन मॉस्क की आवश्यकता हो तो पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग अंतर्गत मध्यप्रदेश दीनदयाल अन्त्योदय योजना राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन जिला पंचायत के कक्ष क्रमांक 34 में जिला परियोजना प्रबंधक को लिखित में मांग पत्र प्रस्तुत कर तीन दिवस के अंदर कॉटन फेस मॉस्क (सिंगल लेयर 3 फोल्ड) 10 रूपए प्रति नग की दर से नगद, चेक, आरटीजीएस से प्राप्त कर सकते हैं। मॉस्क हेतु नोडल अधिकारी जिला स्तर पर (जिला परियोजना प्रबंधक एनआरएलएम) के मोबाइल नंबर 8349996033 से संपर्क किया जा सकता है।

जबलपुर कोरोना अपडेट

आईसीएमआर लैब से आज रविवार की रात 23 सेम्पल की रिपोर्ट और प्राप्त हुई है । इनमें मोहम्मद अतहर उम्र 23 बर्ष, सिद्धार्थ शंकर पांडे उम्र 25 बर्ष, मानसी पाठक उम्र 36 बर्ष एवं नेहा गुप्ता उम्र 27 बर्ष शामिल हैं । इसके पहले आज दोपहर को मिली रिपोर्ट्स में भी पांच व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाये गये थे । इस तरह आज रविवार को अभी तक मिली सेम्पल की परीक्षण रिपोर्ट्स में 9 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाये गये हैं ।
इन्हें मिलाकर जबलपुर में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या बढ़कर अब 68 हो गई है । इनमें से सात स्वस्थ होकर घर लौट चुके हैं । जबकि एक का मृत्यु के बाद लिया गया सेम्पल कोरोना पॉजिटिव पाया गया था ।
रविवार को रात मिली रिपोर्ट्स में पॉजिटिव पाये गये मोहम्मद अतहर चाँदनी चौक हनुमानताल के , सिद्धार्थ शंकर पांडे सरकारी कुआँ घमापुर , मानसी पाठक नेहरू नगर जेडीए कॉलोनी और नेहा गुप्ता कृष्णा कॉलोनी त्रिमूर्ति नगर दमोह नाका की निवासी हैं ।

MPFightsCorona

मध्य प्रदेश की ताजा खबरें- यहां क्लिक करें

About admin-star

Check Also

BJP ने फूंका , कमलनाथ का पुतला।

स्टार भास्कर डेस्क/नारायणगंज@ भाजपा ने समस्त मंडलों में पूर्व वाणिज्य मंत्री एवं प्रदेश के पूर्व …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *