Saturday , February 27 2021
Home / देश / मध्य प्रदेश / जबलपुर / दलाल और बिचौलिया बना राशन दुकान संचालक,पनागर के ग्राम पंचायत भरदा का मामला।

दलाल और बिचौलिया बना राशन दुकान संचालक,पनागर के ग्राम पंचायत भरदा का मामला।

स्टार भास्कर डेस्क/जबलपुर@ पनागर। प्रदेश में चारों ओर अन्न उत्सव कार्यक्रमों की गूंज चल रही है, जिसके चलते हर एक सोसायटी या फिर उचित मूल्य की दुकानों में सूबे के मूखिया के आदेशों के चलते कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं और हितग्राहियों की पीड़ा सुन उनका निदान भी किया जा रहा है। उपनगरीय क्षेत्र पनागर में भी कुछ इसी तरह के कार्यक्रम आयोजित किए गए। कार्यक्रमों की बहार भी बखूबी रही, लेकिन अन्न उत्सव कार्यकमों के समाप्त होते ही दुकान संचालक द्वारा हितग्राहियों के राशन पर बखूबी डाका डाल दिया गया है।
बताया जाता है कि पनागर जनपद की ग्राम पंचायत भरदा में दिसंबर माह का राशन की दुकान संचालक द्वारा दबा दिया गया है। हितग्राहियों को शासन से प्रतिमाह मिलने वाले राशन का बखूबी बंदरबांट भी कर दिया गया है। जब इस पूरे प्रकरण की जानकारी ली गई, तो पता चला कि भरदा ग्राम पंचायत में राशन दुकान संचालक मुकेश पटेल है, जो कि हमेशा से ही ऐंसा करते आ रहा है। एक माह पहले से ही राशन पर्ची का वितरण अंगूठा लगाकर कर देता है। फिर वही राशन दूसरे माह में वितरित करता है। मशीन में हितग्राहियों का अंगूठा लगाकर समय पर पर्ची निकालने में माहिर हो चुके इस सेल्समेन पर ग्रामीणों ने आरोप लगाते हुए बताया कि एक वर्ष में दो से तीन मर्तबा पूरे गांव के हितग्राहियों के साथ यह सेल्समेन ऐंसा बखूबी करते आ रहा है, जो गांव के दबंग परिवार हैं, उन्हे समय पर ही राशन बांट दिया जाता है और आम हितग्राहियों के राशन को अन्य साहूकारों को बेच दिया जाता है।

गरीबों को नहीं मिल रहा पूरा आनाज
ग्रामीणों ने अपनी पहचान उगाकर नहीं करने की शर्त पर बताया कि ग्राम पंचायत भरदा ही एकमात्र ऐंसी उचित मूल्य की दुकान है, जहां पर हितग्राहियों को पूरा आनाज हमेशा से ही नहीं दिया जा रहा है। किसी महीने गेहूं ही गेहूं का वितरण कर दिया जाता है, तो किसी माह चावल ही हितग्राहियों को नसीब होता है। चना, शक्कर, कैरोसीन जैसी वस्तुएं तो महीनों से ही हितग्राहियों को वितरित नहीं की गर्इं हैं। ग्रामीणों का आरोप है कि कोरोना जैसी वैश्विक बीमारी के चलते जहां प्रधानमंत्री ने गरीबों को मुफ्त आनाज बांटने की व्यवस्था कराई, उस दौर में भी सेल्समेन मुकेश पटेल ने हितग्राहियों को पूरा राशन वितरित नहीं किया और गरीबों को भूखा रख अपनी जेब हमेशा की तरह भरते नजर आए।

ग्राम पंचायत भवन में किया कब्जा
ग्रामीणों का खुला आरोप है कि शासकीय उचित मूल्य की दुकान का संचालन वर्षाें से ग्राम पंचायत भवन में किया जा रहा है। भवन में राशन दुकान संचालित होने के चलते यहां के कमरों में आनाज तो बखूबी भरा रहता है और माह या फिर दो माह में ही एक मर्तबा यह कमरे उस वक्त खोले जाते हैं, जब कि राशन दुकान का संचालन होना तय होता है। आरोप यह भी है कि पंचायत भवन में राशन दुकान का संचालन उक्त सेल्समेन द्वारा किए जाने से पंचायत भवन महज बंद होकर रह गया है और चहुं ओर गंदगी का आलम फैला हुआ है। ग्रामीणों का कहना है कि क्या राशन दुकान संचालन के लिए ही आम जनता के गाढे पसीने की कमाई से शासन ने ग्राम पंचायत में उक्त भवन का निर्माण कराया था?

राशन बेचकर ही कमा लिए लाखों
भरदा ग्राम पंचायत की महिला हितग्राहियों का आरोप है कि सेल्समेन मुकेश पटेल ने कुछ वर्ष से ही राशन दुकानों का संचालन कर गरीबों के पेट में डाका डालकर उनका राशन बखूबी साहूकारों को औने-पौने दामों में बेचा और यही सब कर लाखों रूपए अंदर कर लिए। कुछ हितग्राहियों ने तो यहां तक बताया कि रशन दुकान खुलते ही कुछ साहूकार वहां पर जमावड़ा लगाकर बैठ जाते हैं और हितग्राहियों के राशन वितरित होने के बाद सेल्समेन मुकेश पटेल से सांठगांठ कर हमेशा की तरह आनाज और बोरियों की खरीद फरोख्त कर ले जाते हैं। आरोप यह भी लगाए गए हैं कि एक साहूकार ने तो गांव में तीन कमरे किराए पर लेकर राशन का आनाज ही भर लिया है और शिकायत होने के बाद भी कोई कार्रवाई इस ओर नहीं की जा रही है।

इनका कहना है..
भरदा पंचायत में तो मुकेश पटेल सेल्समेन है। यदि हितग्राहियों को राशन से वंचित रखा जा रहा है तो यह अमानवीय है। सोमवार को फूड इंस्पेक्टर के साथ वहां की पूरी जांच की जाऐगी और दोषी पाए जाने पर कार्रवाई की जाएगी।
नितिन मेहरा, प्रशासक सोसायटी पनागर

शासन से ही समय पर आनाज उपलब्ध नहीं हो पा रहा है, तो इसमे मेरा कोई दोष ही नहीं है। जब राशन आऐगा तो बांटा जाऐगा। कैरोसीन तो हमें 4 महीनों से नहीं मिला है। किसी हितग्राही को भी राशन से वंचित नहीं रखा जाता है।


मुकेश पटेल,दुकान संचालक

(रिपोर्ट@ विकास तिवारी,सिटी चीफ,जबलपुर)

मध्य प्रदेश की ताजा खबरें- यहां क्लिक करें

About admin-star

Check Also

डॉ. अर्जुन ने रचा इतिहास, एशिया बुक व इंडिया बुक ऑफ़ रिकॉर्ड में दर्ज हुआ नाम।

स्टार भास्कर डेस्क / शैलेष दुबे/ जबलपुर@ अधिकतम सम्मान पत्र प्राप्त करने वाले एशिया व …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *